Top Connect

ग्रहों के दोष से है परेशान ! तो आखातीज से करें ये उपाय

18 अप्रैल बुधवार से शुरू करें ये उपाय
सर्वसिद्ध मुहूर्त में उपाय खोलेगा उन्नती के द्वार
युवाओं के लिए ये है खास मंत्र
उज्जैन.यदि आपकी जन्म कुंडली में स्थित ग्रह आप पर अशुभ प्रभाव डाल रहे हैं, अगर आपके बनते काम बिगड़ रहे है या फिर आपको सफलता नहीं मिल रही हैं,तो इसके लिए कुछ ऐसे उपाय है जो अक्षय तृतीया से ही प्रारंभ किए जा सकते हैं। ये उपाय आपको ग्रहों के दोष से मुक्ति दिलाते हुए उन्नती के द्वार खोलेंगे। 

उपाय : अक्षय तृतीया को सुबह जल्दी उठ कर नित्य कार्यो से निबट कर तांबे के बर्तन में शुद्ध जल लेकर भगवान सूर्य को पूर्व की ओर मुख करके चढ़ायें तथा इस मंत्र का जप करें -  
ऊँ भास्कराय विग्रहे महातेजाय धीमहि, तन्नो सूर्य: प्रचोदयात

प्रत्येक दिन सात बार यह प्रक्रि या दोहराएं। आप देखेंगे कि कुछ ही दिनों में आपका भाग्य चमकने लगेगा। दूसरी ओर अगर ये उपाय सूर्योदय के एक घंटे के भीतर किया जाता है, तो और भी शीघ्र फल प्रदान करता है। 

अगर नहीं हो रही शादी तो ये करें उपाय। ज्यादातर माता-पिता व युवाओं की अहम समस्या है सही समय पर शादी नहीं होना। आधुनिकता की दौड़ में युवा अपने कॅरियर को लेकर इतने व्यस्त रहते हैं कि उनकी शादी की सही आयु कब निकल जाती है, उन्हें पता भी नहीं चलता। ऐसे में कई लोगों का विवाह होना मुश्किल हो जाता है। लेकिन अगर आप इस अचूक प्रयोग को करते है तो अविवाहित युवाओं के विवाह संबंधी समस्या का त्वरित निराकरण हो सकता है। यह प्रयोग लड़के व लड़कियों दोनों द्वारा किया जा सकता है।

प्रयोग विधि : 
- इस प्रयोग को अक्षय तृतीया के शुभ मुहूर्त में किया जाना चाहिए।
- प्रयोग रात के समय किया जाना चाहिए।
- एक बाजोट (ऊंचा आसन या चौकी) पटिए पर पीला कपड़ा बिछाएं और पूर्व दिशा की ओर मुख करके उस पर बैठ जाएं।
- मां पार्वती का चित्र अपने सामने रखें।
- अपने सामने बाजोट पर एक मुट्ठी गेहूं की ढेरी रखें।
- गेहूं पर एक विवाह बाधा निवारण यंत्र स्थापित करें और चंदन अथवा केसर से तिलक करें।
उक्त पूरी प्रक्रिया ठीक से होने के बाद हल्दी माला से निम्न मंत्र का जप करें।

लड़कों के लिए मंत्र
पत्नीं मनोरमां देहि मनोवृत्तानुसारिणीं
तारणीं दुर्गसंसारसागरस्य कुलोदभवां

लड़कियों के लिए मंत्र
ऊँ गं घ्रौ गं शीघ्र विवाह सिद्धये गौर्य फट्
उक्त मंत्र से चार दिनों तक नित्य 3-3 माला का जप करें

अंतिम दिन इस सामग्री को देवी पार्वती के श्रीचरणों में किसी भी मंदिर में छोड़ आएं। शीघ्र ही आपका विवाह हो जायेगा। यह प्रयोग पूरी श्रद्धा व भक्ति से करें,यह सिद्ध प्रयोग है। हमारे द्वारा किसी प्रकार के टोटके नहीं बताएं गए है। यह एक वैदिक मंत्र है। इसे करने से किसी प्रकार की हानी नहीं होगी। 

Latest News

Top Trending

Connected astro

  • Astrologer connect


  • Mangalam Chmaber Main Market Kota