Top Connect

मंडी में 30 जून तक होगी प्याज की खरीदी

लहसुन का 31 मई तक होगा मंडी में विक्रय
मंडी में किसानों के लिए ये रहेगी व्यवस्था
मंडी में ये दस्तावेज जरूर साथ लेकर जाए किसान
उज्जैन. मध्य प्रदेश सरकार द्वारा किसानों को उचित मूल्य दिलाने के लिए लागू की गई योजनाओं में भावान्तर भुगतान एवं कृषक समृद्धि प्रोत्साहन योजना अंतर्गत किसान अपनी उपज का विक्रय कर सकते हैं। मंडी अध्यक्ष बहादुर सिंह बोरमुण्डला के अनुसार शासन द्वारा प्याज,लहसुन एवं गेहूं विक्रय को लेकर मंडी समिति एवं जिला प्रशासन की ओर से ये व्यवस्थाएं रखी है। 

प्याज विक्रय के लिए ये किसान 30 जून तक करा सकते है पंजीयन 
 किसान प्याज विक्रय के लिए 16 मई से 30 जून तक मंडी में प्रचलित व्यवस्था में पंजीयन करा सकते हैं। जिसके लिए शासन द्वारा 800 प्रति क्विंटल समर्थन मूल्य तय किया है,किंतु मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र एवं आंध्र प्रदेश के औसत मूल्य एवं समर्थन मूल्य के अंतर की राशि भावांतर भाव से भुगतान शासन द्वारा किया जाएगा। किसान को प्रति बीघा 50 क्विंटल तक की उत्पादकता शासन द्वारा तय की गई है। 

किसान इस समय लेकर मंडी पहुंचे प्याज 
मंडी समिति के अनुसार सुबह 6:00 बजे से सायं 6:00 बजे तक मंडी में प्याज की आने वाली ट्रालियों पर प्रतिबंध रहेगा। किसान शाम 6:00 बजे से सुबह 6:00 बजे तक ही मंडी में प्याज को लेकर पहुंचे।

लहसुन विक्रय के लिए 31 मई तक विक्रय  
किसान लहसुन की फसल का 31 मई तक मंडी में विक्रय कर भावांतर भुगतान योजना का लाभ ले सकते हैं जिसके लिए प्रति बीघा 15 क्विंटल की उत्पादकता शासन द्वारा तय की गई है इसके लिए अधिकतम 800 क्विंटल पंजीकृत किसान को शासन द्वारा भावांतर की राशि देय होगी ।

गेहूं की खरीदी हुई बंद 
शासन द्वारा समर्थन मूल्य पर 15 मई को खरीदी बंद कर दी गई है किंतु 26 मई तक मंडी में नीलामी में गेहूं विक्रेता किसान को 265 रुपए प्रति क्विंटल का लाभ कृषक समृद्धि प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत शासन द्वारा देय होगा। आपको बता दे कि तीनों योजनाओं के लिए किसान को अपना पंजीयन मंडी अनुबंध पर लिखवाना तथा प्रवेश तोल पर्ची, अनुबंध, भुगतान पत्रक, पंजीयन, बैंक खाता तथा आधार कार्ड की छायाप्रति मंडी कार्यालय में जमा कराना आवश्यक होगी।

Latest News

Top Trending

Connected citizen ujjain

  • Ujjain-DPRO-UJJAIN