Top Connect

युवा शक्ति का उपयोग देश के विकास में किया जाए. राज्यपाल

विश्वविद्यालयों में नए पाठ्यक्रम शुरू करने की जरूरत है
रोगियों को गोद लेकर की जाएगी मॉनिटरिंग
श्री वैष्णव विद्यापीठ का दीक्षान्त समारोह सम्पन्न
इंदौर. हमारा देश विश्व में युवा जनसंख्या वाला सबसे बड़ा देश है। नए भारत के निर्माण में युवा शक्ति का बेहतर उपयोग करना समय की आवश्यकता है। यह बात राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने शनिवार को इंदौर में श्री वैष्णव विद्यापीठ विश्वविद्यालय के दीक्षान्त समारोह में कही। राज्यपाल ने युवाओं से आह्वान किया कि वे संस्कारवान बनें और समाज सेवा में सक्रिय योगदान दें। समाज में व्याप्त कुरीतियों और अंधविश्वास के वातावरण को दूर करने के लिए युवाओं को आगे आना होगा। इस अवसर पर राज्यपाल ने विद्यार्थियों को उपाधि प्रदान की।
15285498590.jpeg
पटेल ने विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए कहा कि विद्यार्थी विकासात्मक तथा कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन के संबंध में भी शोध एवं अध्ययन करें, ताकि योजनाओं के क्रियान्वयन की जमीनी हकीकत का पता चल सके। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालयों को इस संबंध में शोध एवं अध्ययन के लिये 10-10 विषय दिए जाए। श्रीमती पटेल ने कहा कि विश्वविद्यालयों में नए पाठ्यक्रम शुरू करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालयों में कौशल विकास केन्द्र भी खोले जायें और प्लेसमेंट शिविर लगाए जायें।
15285498591.jpeg
राज्यपाल श्रीमती पटेल ने दीक्षांत समारोह में उपस्थित क्षय रोगियों और आंगनवाड़ी के बच्चों को फल वितरित किए। उन्होंने कहा कि समाज के सम्पन्न वर्ग को आगे आकर क्षय रोगियों की मदद करना चाहिये। प्रदेश को क्षय रोग मुक्त बनाना समाज के हर वर्ग का नैतिक दायित्व है। श्री वैष्णव विद्यापीठ विश्वविद्यालय ने इस मौके पर 10 क्षय रोगियों को गोद लेकर उन्हें लगातार 6 माह तक पोषण आहार देने और उनके उपचार की मॉनीटरिंग की घोषणा की।

Latest News

Top Trending

Connected citizen indore

  • Indore-DPRO-INDORE